कंप्यूटर फॉर्मेट कैसे करे ? How to format computer ?

  नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपके अपने Daily Hindi Post ब्लॉग  में आज मै इस आर्टिकल में आपको बताने वाला हूं कि Computer Software kya hai computer application kaise use kare इस पोस्ट में बने रहे एन्ड तक जिसमे आपको सारी जानकारी विस्तार से दी जाएगी तो आये हम जानते है कंप्यूटर सॉफ्टवेयर क्या है 

कंप्यूटर फॉर्मेट क्यों करे ?

यदि आप एक नया कंप्यूटर खरीदते है तो आपके कंप्यूटर में ऑपरेटिंग सिस्टम का इनस्टॉल होना जरुरी है आप ऑपरेटिंग सिस्टम के बिना कंप्यूटर का उपयोग नहीं कर सकते है इसलिए आपको कंप्यूटर में ऑपरेटिंग सिस्टम को इनस्टॉल करने के बारे में पता होना चाहिए बाजार में कई ऑपरेटिंग  सिस्टम उपलब्ध है उदहारण के लिए विंडो युनिएक्स मैक ओएस आदि आप अपनी आवश्यकता के अनुसार ऑपरेटिंग सिस्टम को इनस्टॉल और उपयोग कर सकते है 


कभी कभी कंप्यूटर को बहुत अधिक समय तक उपयोग करने के बाद वह धीमा  पड़ जाता है या कंप्यूटर ड्राइव पर बहुत अधिक अनावश्यक डेटा जमा हो जाता है ऐसे में आप अपने कंप्यूटर को फॉर्मेट कर सकते है और एक नयी ऑपरेटिंग सिस्टम इनस्टॉल कर सकते है 
या आप अपने कंप्यूटर को अपने पुराने ऑपरेटिंग सिस्टम से एक नए ऑपरेटिंग सिस्टम में अपग्रेड करना चाहते है तो आप अपने कंप्यूटर को फॉर्मेट कर सकते है 

कंप्यूटर फॉर्मेट करने के लिए जरुरी बाते ?

आपके कंप्यूटर को फॉर्मेट करने के लिए आपके पास सभी आवश्यक चीज़े होनी चाहिए वे है :

कंप्यूटर को फॉर्मेट करने के लिए आपके पास ऑपरेटिंग सिस्टम की बूटेबल डीवीडी या बूटेबल पेन ड्राइव होना चाहिए 

कंप्यूटर को फॉर्मेट करने के लिए आपके कंप्यूटर को एक डीवीडी ड्राइव होना चाहिए डीवीडी ड्राइव न होने की स्थिति में आपको एक्सटर्नल डीवीडी  ड्राइव जोड़ना होगा जो बाजार में आसानी से उपलब्ध है 

बूटेबल पेन ड्राइव यु एस बी पोर्ट को कनेक्ट करने बूटेबल पेन ड्राइव का उपयोग करके कंप्यूटर फॉर्मेट कर सकते है 

कंप्यूटर फॉर्मेट कैसे करे ?

कंप्यूटर को फॉर्मेट करने के लिए आप  के पास window 7,8 या 10 DVD की बूटेबल  डीवीडी होनी आवश्यक है या एक बूटेबल पेन ड्राइव होनी आवश्यक है बूटेबल डीवीडी से कंप्यूटर को फॉर्मेट करने के लिए कंप्यूटर को एक डीवीडी ड्राइव होना चाहिए या आपको एक्सटर्नल डीवीडी ड्राइव जोड़ना होगा

सुचना:-
कंप्यूटर को फॉर्मेट करने से पहले यदि कंप्यूटर में कुछ महत्वपूर्ण दस्तावेज है तो कंप्यूटर में आवश्यक डेटा का डीवीडी पेन ड्राइव में बैकअप लेना आवश्यक है अन्यथा आपको कंप्यूटर को फॉर्मेट करने के बाद वह डाटा नहीं मिलेगा जो आप चाहते है

प्रथम विंडो 7 बूटेबल डीवीडी (DVD) डीवीडी ड्राइव में डाले फिर अपने कंप्यूटर रीस्टार्ट होते समय कीबोर्ड पर F2 या डिलीट (Delete) बटन दबाते रहे निम्न विंडो खुल जाएगी

इसमें Boot Options मेनू पर जाए और 1st बूट डिवाइस CD/DVD ड्राइव डीवीडी ड्राइव (DVD Drive) सेलेक्ट करे और 2nd Boot Device में Hard Disk हार्ड डिस्क सेलेक्ट करे और F10 बटन दबाये या कीबोर्ड पर एरो कुंजियों का उपयोग करके Save and Exit Setup  विकल्प का चयन करे
 Save and Exit Setup विंडो दिखाई देगा Yes विकल्प चुने एंटर बटन दबाकर कंप्यूटर को रीस्टार्ट करे कंप्यूटर रीस्टार्ट होते वक्त Press any key to boot from CD or DVD… मैसेज आएगा तुरंत कीबोर्ड पर कोई भी कुंजी दबाए

Window is loading files….संदेश दिखाई देगा और आवश्यक सेटअप फाइल्स कॉपी होगी

अगली विंडो कुछ समय में दिखाई देगी इसमें भाषा टाइम करेंसी फॉर्मेट कीबोर्ड मेथड आदि पूछा जाएगा इसे चुने और नेक्स्ट बटन पर क्लिक करे

Window 7 Install Now संदेश वाला एक विंडो दिखाई देगा उसमे Install Now पर क्लिक करे
आप अपनी आवश्यकता के अनुसार 32 बिट या 64 बिट ऑपरेटिंग सिस्टम स्थापित करने के लिए
X86 विकल्प का उपयोग करे या 64 बिट ऑपरेटिंग सिस्टम को स्थापित करने के लिए X64 विकल्प का उपयोग करे

इसके बाद Window 7 license terms विंडो सामने आएगी उसमें I accept the license terms चेकबॉक्स सेलेक्ट करे और नेक्स्ट Next बटन पर क्लिक करे

फिर अगली विंडो में Upgrade और Custom (advanced) विकल्प सामने आएगा यदि आप पुराने विंडो ( विंडो 7) से नए विंडो ( विंडो 8) में अपग्रेड करना चाहते है तो आप अपग्रेड ओप्तिओंस का चयन कर सकते है या यदि आप एक नया तजा विंडो ( विंडो 7 या 8 ) स्थापित करना चाहते है तो आप कस्टम विकल्प चुन सकते है

नयी विंडो स्थापित (Install )  करने के लिए custom ( Advanced)  विकल्प चुने 

अगली विंडो सामने आएगी यहाँ आप हार्ड डिस्क के विभाजन ( Partition ) देखने भाग 1 ( Partition 1 )डिफ़ॉल्ट सिस्टम रिज़र्व  होता है अगले भाग ( Partition 2 , 3 , 4 etc  ) 

यानी ( c , d , e drive  etc ) ड्राइव के लिए होते है यदि आप विंडो को इनस्टॉल करने से पहले पार्टीशन  फॉर्मेट करना चाहते है तो आप निम्न ड्राइव ऑप्शंस  में फॉर्मेट  विकल्प पर क्लिक कर सकते है 
पार्टीशन को फॉर्मेट कर सकते है पार्टीशन फॉर्मेट करने पर उस पार्टीशन से सभी डाटा नस्ट हो  जाता है यदि आप D  ड्राइव , E
 ड्राइव आदि पर स्थित डाटा हटाना नहीं चाहते है तो यदि आप पार्टीशन को फॉर्मेट किये बिना छोड़ देते है तो कंप्यूटर फॉर्मेट करने के बाद भी आप ड्राइव पर स्थित डेटा का  उपयोग कर सकते है
इसके बाद आप जिस पार्टीशन में विंडो इनस्टॉल करना चाहते है उस पार्टीशन ( C Drive ) का चयन करे नेक्स्ट बटन पर क्लिक करे 
विंडो इंस्टॉलेशन प्रक्रिया चालू हो जायेगी इंस्टॉलेशन के दौरान कंप्यूटर कुछ बार रीस्टार्ट होगा  विंडो इंस्टालेशन प्रकिर्या पूरी होने तक प्रतिशा करे 
इंस्टालेशन प्रकिर्या पूर्ण होने पर sign up  विंडो दिखाई देगी उसमे यूजरनाम और कंप्यूटर नाम के लिए पूछा जाएगा उचित पासवर्ड पूछा जाएगा उचित पासवर्ड दर्ज करे नेक्स्ट ( नेक्स्ट Next) बटन पर क्लिक करे 
कंप्यूटर इंस्टालेशन प्रकिर्या पूरी हो जायेगी अब आपका कंप्यूटर उपयोग के लिए तैयार है 


कंप्यूटर का इंटरफेस ?

डेस्कटॉप:-कंप्यूटर शुरू होने के बाद स्क्रीन पर पहली बार दिखने वाले भाग को डेस्कटॉप कहा जाता है डेस्कटॉप से आप कंप्यूटर के विभिन हिस्सों तक पहुंच सकते है 

आइकन:-आप डेस्कटॉप पर विभिन फाइल व फोल्डर एक छोटे चित्रात्मक रूप में देख सकते है उन्हें आइकॉन कहा जाता है आइकॉन एक ग्राफिकल ऑब्जेक्ट है जो उपयोग किये जानेवाले ऍप्लिकेशन्स को निर्देशित करते है जिससे जब आप कंप्यूटर का उपयोग करते है तब आपको ग्राफिकल इंटरफ़ेस उपलब्ध होता है

 टास्कबार:-स्क्रीन के नीचे पट्टी को टास्कबार कहा जाता है इस टास्कबार के बायीं तरफ एक गोल बटन होता है इसे स्टार्ट बटन कहा  जाता है यहाँ से आप कंप्यूटर के विभिन हिस्सों तक पहुंच सकते है टास्कबार के दायी और कोने में तारीक और समय दिखाई देता है

माय कंप्यूटर ? 

कंप्यूटर में सहेज यानी सेव किये गए फाइल फ़ोल्डर्स आदि जानकारी आप विंडो एक्स्प्लोरर में देख सकते है 
विंडो एक्स्प्लोरर के बायीं और डाउनलोड डाक्यूमेंट्स म्यूजिक पिक्चर वीडियो कंप्यूटर ड्राइवर्स आदि विकल्प उपलब्ध होता है

कण्ट्रोल पैनल ?

आप कण्ट्रोल पैनल में अपने कंप्यूटर के विभिन्न सेटिंग कर सकते है कण्ट्रोल पैनल का उपयोग कर आप अपनी आवश्यकताओ के अनुसार कंप्यूटर को कस्टमाइज कर सकते है 

जैसे कंप्यूटर से सम्भंदित विभिन सेटिंग्स कंप्यूटर हार्डवेयर सेटिंग्स कंप्यूटर ऍप्लिकेशन्स से सम्भंदित सेटिंग्स  स्क्रीन के थीम में बदलाव और भी बहुत कुछ

कंप्यूटर में टाइपिंग भाषा कैसे सेट करें ?

कंप्यूटर पर कार्य करते समय विभिन्न दस्तावेज तैयार करते समय अंग्रेजी भाषा का उपयोग किया जाता है लेकिन अगर आप अन्य भाषाओ में जानकारी टाइप करना चाहता है तो आपको अंगेजी के अलावा अन्य भाषा में टाइप करने के लिए भाषा को सेट करना होगा

इसके लिए स्टार्ट बटन पर क्लिक करे स्टार्ट मेनू के दायी और स्थित कण्ट्रोल पैनल विकल्प पर क्लिक करे कण्ट्रोल पैनल  विंडो खुल जाएगी इसमें रीजन एंड लैंग्वेज विकल्प पर क्लिक करे एक नयी विंडो खुल जायेगी इसमें  कीबोर्ड एंड लैंग्वेज विकल्प पर क्लिक करे एक नयी विंडो खुल जायेगी उसमे ऐड बटन पर क्लिक करे विंडो 7 में उपलब्ध भाषाओ की एक सूचि दिखाई देगी वहाँ से वांछित भाषा के बगल में स्थित बटन पर क्लिक करके भाषा का चयन करे ओके बटन पर क्लिक करे

आपके द्वारा सेट की गई भाषा में टाइप करने के लिए नोटपैड या कोई भी अन्य एप्लीकेशन खोले टास्कबार के दायी और एक लैंग्वेज आइकॉन दिखाई देगा उस पर क्लिक करे और भाषा का चयन करे जिसे आपने सेट किया था या कीबोर्ड में alt + shift बटन दबाये और टाइप करना शुरू करे टेक्स्ट आपके द्वारा चुनी गयी भाषा में टाइप किया जायेगा

कंप्यूटर टाइपिंग ?

कंप्यूटर में विभिन्न दस्तावेज बनाते समय सुचना टाइप करने की आवश्यकता होती है कंप्यूटर का उपयोग  करते समय जानकारी को जल्दी से टाइप किया जाना चाहिए यदि आपकी टाइपिंग की गति अच्छी है तो आपके कंप्यूटर पर काम करते समय आपको काम जल्दी से किया जा सकता है

कंप्यूटर टाइपिंग एक तरह का कौशल है जो अभ्यास से प्राप्त किया जा सकता है अपनी टाइपिंग की गति बढाने के लिए आपको टाइपिंग का अभ्यास  करना होगा एक बार आपने टाइपिंग कौशल कर लिया तो फिर अपने कंप्यूटर पर कार्य करते समय आप अपना काम जल्दी कर सकते है 

कंप्यूटर टाइपिंग सीखने के लिए आपको कीबोर्ड पर स्थित विभिन कुंजियों की स्थिती का अनुमान होना चाहिए इसके अलावा टाइप  करते समय उंगलियों को सही कुंजी पर होना चाहिए कुंजीपटल के बटन को सही उंगलियों से दबाया जाना चाहिए इससे टाइप करते समय आपकी गति बढ़ जाती है 

हाथो के उंगलियो की कीबोर्डपर स्थित कुंजिओ अनुसार स्थिति इस प्रकार है

आखिर  में ,
दोस्तों आज का लेख यही पर समाप्त होता  है और में आशा करता हु की यह पोस्ट आपको बहुत पसंद और  काम आयेगी इस पोस्ट में हमने कंप्यूटर कंप्यूटर फॉर्मेट कैसे करे   है  और कंप्यूटर  का इंटरफेस है और कंप्यूटर में टाइपिंग भाषा कैसे सेट करें  यह पढ़ा है 
अगर आप को यह पोस्ट पसंद आयी है तो आप इसे अपने सोसाइल नेटवर्क पर शेयर कर सकते है जैसे  Facebook , Twitter , Instagram आदि जिससे आप के फ्रेंड या रिश्तेदार भी यह जानकारी को पढ़ कर लाभ उठा सके तो 
धन्यवाद 




Leave a Comment